आज, रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का अद्वितीय समय आया है, जिसका देशभर में बेहद उत्साह और आनंद से स्वागत हो रहा है। 

इस दिवस पर, प्रभु श्रीराम अपने भव्य और दिव्य मंदिर में विराजमान होंगे, जिसका लोग बहुत दिनों से बेताबी से इंतजार कर रहे हैं।

12 बजकर 29 मिनट और 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक, यानी 84 सेकंड का है। शुभ मुहूर्त

ज्योतिष के अनुसार, इस अद्वितीय समय में रामायण का सम्पूर्ण पाठ कठिन हो सकता है, 

‘श्री राम चंद्र कृपाल भजमन’ का पाठ अत्यंत महत्वपूर्ण है और सभी का कल्याण करता है।

भगवान राम के आदर्श आचरण का पालन करना चाहिए और किसी भी प्रकार के गलत कार्य से बचना चाहिए।

प्रभु श्रीराम अपने भव्य और दिव्य मंदिर में विराजमान होंगे

प्रभु श्रीराम अपने भव्य और दिव्य मंदिर में विराजमान होंगे